Loading Posts...

प्रेमी को हुआ प्रेमिका की वफा पर शक, तो दे दी इतनी दर्दनाक मौत, सुनकर आपकी भी रुह जाएगी कांप

नवाबस्ट्रीट न्यूज़ डेस्क: ये दिल दहला देने वाला मामला महाराष्ट्र के नागपुर जिले से सामने आया है इस मामले में पुलिस के भी होश उड़ा दिए. बताते चले सरफिरे प्रेमी ने मॉडल बनने की आकांक्षा रखने वाली 19 वर्षीय मिस इंडिया 2019 की टॉप फाइनलिस्‍ट रही खुशी जगदीश परिहार के चरित्र पर शक में बीते 12 जुलाई को उसे मौत के घाट उतार डाला. शव की पहचान न हो सके उसके लिए बॉयफ्रेंड ने खुशी के चेहरे पर पत्‍थर से कई वार किए। मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस ने रविवार को इस घटना के बारे में कहा कि प्रेमी आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. पीड़िता की पहचान नागपुर निवासी खुशी परिहार और आरोपी की पहचान अशरफ शेख के रूप में हुई है. खुशी स्थानीय फैशन शो में भाग लिया करती थी और बड़ी मॉडल बनना चाहती थी.

ऐसे हुई शिनाख्त

मिली जानकारी के मुताबिक नागपुर पुलिस को इस घटना की सूचना मिली थी कि पंधुरना-नागपुर राजमार्ग पर एक लड़की की लाश पड़ी हुई है। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो पाया कि लड़की का चेहरा बुरी तरह से कुचल हुआ था। युवती की लाश, कपड़े और जूते को देखकर पुलिस ने अंदाजा लगाया कि ये युवती ग्रामीण इलाके की नहीं है। उस लड़की का सिर को पत्थर से कुचला गया था, इसके अलावा शरीर पर अन्य जगहों पर भी चोट के गहरे निशान थे। एक हाथ का पंजा भी गायब था। वही इस घटना पर पुलिस ने सोशल मीडिया के जरिए उसे पहचाना और बताया कि खुशी परिहार लोकल फैशन शोज में हिस्सा लेती थी और मॉडल बनना चाहती थी। पुलिस ने बताया कि शेख को बाद में गिरफ्तार कर लिया गया।

अशरफ के पिता ड्रग्स कारोबारी

पुलिस के मुताबिक आरोपी अशरफ शेख आईवीएम रोड, गिट्टी खद्दान का रहने वाला है। वो पेशे से बार्बर है और झिंगबाई टाकली परिसर में जॉन नाम से सैलून चलाता है। वहीं अशरफ का पिता अफसर शेख उर्फ अफसर अडी शहर का सबसे बड़ा गांजा विक्रेता है। अफसर को पुलिस ने इससे पहले कई बार गिरफ्तार भी किया है।

अकेली रहती थी खुशी

पुलिस की गहरी जांच में ये भी सामने आया है कि, मॉडल खुशी अपने परिवार से अलग रहती थी। हाल में ही कुछ दिनों पहले ही उसने गिट्टी खद्दान के वेलकम सोसायटी में एक फ्लैट किराए पर लिया था। वहीं उसके माता पिता डिगडोह परिसर में रहते थें। पुलिस अधिकारी के मुताबिक अशरफ शेख ने कबूल किया है कि उसने खुशी को इसलिए मारा क्योंकि उसके चरित्र पर शक था और वह किसी अन्य व्यक्ति के साथ नजदीकी थी। आगे मिली जानकारी के अनुसार यह देखा गया कि खुशी परिहार 12 जुलाई को अशरफ शेख के साथ उसकी कार में घूमने निकले थे और कथित रूप से उसे मारने के बाद पंधुरना-नागपुर हाईवे पर छोड़ दिया।

0
HeartHeart
0
HahaHaha
0
LoveLove
0
WowWow
0
YayYay
0
SadSad
0
PoopPoop
0
AngryAngry
Voted Thanks!
Loading Posts...